Sunday, 21 November, 2010

कलम के जरिये

कलम का इस्तेमाल करो
बतौर हथियार और बताओ
कि तुम लड़ रहे हो एक जंग
एक बदलाव कि जंग |
बतलाओ लोगों को
जीवन के प्रति निष्ठां रखना |
जो तुम्हे पढ़े वे भी लादे तुम्हारे साथ वह लड़ाई
जो लड़ी जा रही है पुश्तों से
अन्याय और गुलामी के विरुद्ध |

No comments:

Post a Comment