Saturday 18 December 2010

नौटी सिक्सटी


स्वीट सिक्सटीन से तो हम सब वाकिफ है |पर नौटी सिक्सटी को शायद हम उतना नहीं जानते |कैसे जाने गे भला
जब जिंदगी यह सब जानने की फुर्सत दे |अगर आप साठ साल के हो गए है ,स्वस्थ है ,सोच सकारात्मक है ,कुदरत
और बच्चो से प्यार है ,यायावरी का शौक फरमाते है तो आप की सिक्सटी को नौटी होने को नहीं रोक सकता और नौटी
सिक्सटी के साथ जीने का जो लुत्फ़ है वह स्वीट सिक्सटीन से कम नहीं है |पर ध्यान रहे कि स्वीट सिक्सटीन की कहीं हरकते न कर बैठें ,वरना खतरे ही खतरे है |साठ साल की जद्दोजहद की फुर्सत, नए जोश और नयी नजर से
जिए , जज्बे के साथ |बस यही है यह असली जिंदगी |

No comments:

Post a Comment