Tuesday 11 January 2011

पानी की सतह पर तैरता एक खुबसूरत शहर वेनिस





वेनिस को इटैलि;न भा“ाा में वेनीजि;ा कहते हैं जैसे रोम को रोमा कहते हैं-वेनिस चारो तरफ पानी से ?िारा हुआ है-वेनिस में आने-जाने के लि, वाटर टैक्सी का इस्तेमाल करते हैं ;हां पेट्रोल् वाहन नहीं चलते हैं-वेनिस मे लोÛ आफिस,बाजार,और अपने ?ारों को नाओं से ; पैदल
जाते हैं-लोÛोम का कहना है कि वेनिस से सुन्दर ‘ाहर ‘ाा;द ही दुनि;ा में कोई हो-वेनिस नहरों और पानी की Ûलि;ों का ‘ाहर है-उसमें इतनी भूल-भुलै;ां है कि कोई भी आसानी से खो सकता है -वैसे भी वेनिस के सौन्दर्; में डूब कर अपने को भऊल जा;े तो कोई आ‘चर्; नहीं है- इटली के लोÛ भारतावासि;ों की तरह मिलनसार और खुले दिमाÛ् के होते है$-उन्हें किसी से बातचीत करने में किसी से कोई झिझक नहीं होती है- अजूबा ‘ाहर है देखते ही बनता है नैसर्Ûिक सौन्दर्; से सरबोर ,क सुन्दरी कि तरह-मार्कोपोलो ने अपनी चीन की ;ा=ा
वेनिस ही ‘ाुरु की थी-वेनिस मे छोटे-छोटे 117 टापू( आइलैन्ड) हैं-इसके अलावा 140नहरें और
400 पुल हैं-लÛता है पूरा ‘ाहर पानी की सतह पर तैर रहा हो-चारो तरफ पानी ही पानी होने
के बाबजूद वेनिस की स्थापत्;कला और मूर्तिकला दर्‘ाकों को मुग्/ा और आ‘चर्;चकित करती है-वेनिस को क्रम‘ाः कनार्जिआ,कैसिलो,सैनमार्को ,डारसुडूरो,सैनपोलो,तथा सैन्ट्क्रेसर 6भÛों में बांटा Û;ा है-वेनिस में मुख्; Ûलि;ों को कैले और छोटी Ûलि;ों को कलैटा ; रौना कहतें हैं-
सैनमार्को स्क्वा;र ;हां की म‘ाहूर जÛह है-सैन्मार्को चर्च बेहद खुबसूरत है-;हंा
कबूतरों के झुन्ड ?ाूमते रहते हैं और दर्‘ाकों ंके कन्/ाों पर बैळ जातें हैं-;हां सेन्ट्मार्क की कब्र
है-कहा जाता है कि मिश्र के व्;ापारी सेन्ट्मार्क कीकब्र चुरा ले Û;े थे इसलि, मिश्रवासि;ों ने
उसका पुनर्निर्म.ा करा;ा है-सैनमार्को चर्च का ?ान्टा?ार 99मीटर ऊंचा है-इसे दसवीं ‘ाताब्दी
मे बनवा;ा Û;ा था-14जुलाई 1902 में ;ह ?ान्टा?ार पूरी तरह /वस्त हो Û;ा था जिसे वेनिस
वासि;ों ने पुनः बना कर खडा कर दि;ा-;हां मुरैनो आइलै.ड अपने ग्लासवर्क केसौन्दर्; के
लि, म‘ाहुर है और बुरैनो आइलै.ड फि‘िांÛ विलेज के नाम से जाना जाता है,,क छोटा सा
आइलै.ड है टारसिलो जहां कैथडरल चर्च का आटर््वर्क आकर्“ाक है-वेनिस को अन्तररा“टी;
फिल्ममहोत्सव का ‘ाहर कहा जाता है-;हां अन्तर्रा“टी; कलप्रदर्‘ानि;ों का आ;ोजन आम बात है ;हां की Ûैडोलारेस बहुत म‘ाहूर है जिसमें भारत में केरल की तरह नावों की दौड होती है- इटली के इस छोटे से ‘ाहर की प्राकृतिक खुबसूरती देखते ही बनती है-इसके सौन्दर्; र्वा.ान के लि, अद्भुत,सुन्दर,और आकर्“ाक ‘ाब्द पर्;ाप्त नहीं हैं-वेनिस दुनि;ां के म‘ाहूर कला और सांस्कृतिक केन्द्रों में से ,क है-;हां की भा“ाा वेनी‘िा;न और स्पेनि‘ा है-,ेतिहासिक इमारतें-खुबसूरत Ûिरजा?ार-ऊंची-ऊंची बिल्ड्Ûें,ाार्ट्Ûैलरी तथा चारो तरफ पानी हीपानी और नीले-नीले बादल साथ में मानवी; सौन्दर्; वेनिस के सफर को ;ाद्Ûार बनाते हैं-पूरा ‘ाहर किसी लकार की बनाई हुई पेन्टिंÛ जैसी लÛती है-हर वर्“ा वेनिस में 120 रैÛाटा आ;ोजित कि;े जाते हैं-रैÛाटा का खेल वेनिस मे बहुत लोक्प्रि; है- वेनिस निवासी इस खेल मे बड्चड् कर हिस्सा लेते है-वेनी‘िा;न आर्सनल ;हां के प्रसि/द बन्दरÛाहों में से है-रंगमंच्प्रेमि;ों के लि, ;हंा प्रतिवर्“ा नाट्य्समरोहों का आ;ोजन कि;ा जाता है-5 अक्टऊबर से क्रिसमस तक सेन्ट्मार्क स्का;र मे चलने वाले कार्निवाल में वेनिस के इतिहस और संस्कृति की झलक देखने को मिलती है-स्कालाकोट्वीनो बोवोल महल ;हां का अद्रभुत आकर्“ा्.ा केन्द्र है-इस महल में अनÛिनत वृत्तखंड और सीड्;िां हैं -;हां की अकादमि;ां और आर्ट् Ûैलरि;ंा बहुत म‘ाहूर हैं--;हां 18वीं ‘ाताब्दी के कलाकृति;ों को देखा जा सकता है-वेनिस में ग्रा.ड कैनाल पर बने
रि;ाल्टो ब्रिज से पूरे ‘ाहर का खुबसूरत नजारा देखा जा सकता है-वेनिस के लोÛ ईसाई /ार्म
के अनु;ा;ी हैं इसिलि, Ûिरज?ारों में भीड लाÛी रहती है-सेन्टामेरि;म Ûिरजा?ार में ;ोरोपी;
और इस्लामिक स्थापत्;कला का अद्रभुत समन्व; है-बेसिलिकाडे फरारी चर्च् पि;ाजका इतिहास काफी पुराना है-पि;ाजा सैनमार्को में प्रवे‘ा करते ही क्लाक्टावर (?ांटा?ार) पर नजर जाती है ो
कफी आकर्“ाक है- अकादमि;ां और पैÛीÛुÛेन्हाइम संहृाल; देखने ;ोग्; हैं- अक$दमि;ा$ में प्राचीन और म/य्कालीन इटैलि;न वैनी‘िा;न का बहुत प्रभावी संग्रह है- दो बातें स्प“ट हैं कि
तमाम दो“ाों के बाबजूद सरकारी साामंती संर{ा.ा मे ही महान कला का सृजन और संर{ा.ा
संभव हुआ है-

No comments:

Post a Comment